Bhavatharini Death: संगीत जगत में अद्वितीय योगदान देने वाले इलैयाराजा की बेटी का दुखद निधन

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

संगीत की मशहूर दुनिया में एक दुखद समाचार आया है, जिसने इलैयाराजा की शानदार गायिका और बेटी, Bhavatharini की शून्य स्थिति बना दी है। उनके संगीतीय योगदान ने सदियों तक बनी रहेगी, और हम इस लेख में उनकी अद्वितीय प्रतिभा और संगीतीय सफलता को समर्पित करेंगे।

Bhavatharini का असली नाम

संगीत के क्षेत्र में अपने प्रतिष्ठानुमान इलैयाराजा की बेटी भवतारिणी का इस दुनिया को अलविदा कह देना हम सभी के लिए एक बड़ा शोक है। भवतारिणी के 47 वर्षों की उम्र में इस दुनिया को छोड़ जाने का कारण है कैंसर।

संघर्ष और आख़िरी समय

बीते 6 महीनों से भवतारिणी लीवर कैंसर से जूझ रही थीं और हाल ही में उन्होंने श्रीलंका के एक निजी हॉस्पिटल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। इस दर्दनाक लड़ाई में भवतारिणी ने आख़िरी सांस ली है।

गायक और संगीतकार के रूप में उनकी उपस्थिति

भवतारिणी संगीतकार इलैयाराजा की बेटी के रूप में हमें हमेशा याद रहेंगी। उन्होंने अपने प्रस्तुतिकरण के लिए सदाबहार गायक के रूप में अपनी पहचान बनाई। भवतारिणी ने अपने पिता इलैयाराजा के साथ, भाई कार्तिक राजा और युवान शंकर राजा के साथ कई हिट गानों को गाया।

राष्ट्रीय पुरस्कार का गर्व

भवतारिणी ने फिल्म “भारती” के लिए गाया गया राष्ट्रीय पुरस्कार जीतने वाले गाने “रसैया” के माध्यम से भी अपने संगीत क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान का परिचय किया।

Shilpa Shetty का Golmaal: Rohit Shetty ने 14 साल पहले किया था प्रस्ताव

Bhavatharini आख़िरी श्रद्धांजलि

भवतारिणी का निधन साउथ सिनेमा और संगीत इंडस्ट्री के लिए एक बड़ा क्षति है। हम सभी उनके परिवार और चाहने वालों के साथ हैं और उन्हें आख़िरी श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। उनकी आत्मा को शांति मिले।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top